हथेलियां / Palms

Kaushal Kishore

चाहे चीजें हो या खुशियां,
उन्हें बटोरने में
हथेलियां छोटी पड़ जाती हैं,
कुछ न कुछ छूट ही जाता है,
लेकिन उन्हें साझा करने के लिए
ऐसा कतई नहीं है..

🤲 🤲 🤲 🤲 🤲 🤲

Whether things or happiness,
palms are too small
to collect them,
something always gets missed,
but it’s not so
while sharing them…

–Kaushal Kishore

image: pinterest

View original post